उद्योग भारती ने बजट पूर्व ज्ञापन में कराधान, वित्तीय कानून, जी एस टी , आयकर ,बैंकिंग, वित्तीय संस्थानों, पूंजी बाजार, केन्द्र एवं राज्य के वित्त एवं केंद्रीय बजट सुधारो सबंधित दिए सुझाव -अरविंद धूमल

उद्योग भारती ने बजट पूर्व ज्ञापन में कराधान, वित्तीय कानून, जी एस टी , आयकर ,बैंकिंग, वित्तीय संस्थानों, पूंजी बाजार, केन्द्र एवं राज्य के वित्त एवं केंद्रीय बजट सुधारो सबंधित दिए सुझाव -अरविंद धूमल

समाचार आज तक

जालंधर, 2 जनवरी ( )- वर्तमान वैश्वीकरण व प्रतिस्पर्धा के दौर में देश की आर्थिकता को सुदृढ़, सामूहिक विकास को गतिशील बनाने, कुटीर, सुक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगो की प्रगति व बेहतरी के लिए प्रयासरत देश का सबसे बड़ा उद्यमी संगठन लघु उद्योग भारती द्वारा अखिल भारतीय अध्यक्ष बलदेव भाई प्रजापति व महासचिव गोविंद लेले के मार्गदर्शन में देश भर से एकत्रित फीडबैक को ध्यान में रखते हुए एक विस्तृत ज्ञापन केन्द्रीय वित्त व कॉरपोरेट मंत्रालय को भेजा गया है।
इस सबन्ध में जानकारी देते हुए लघु उद्योग भारती पंजाब प्रदेश के अध्यक्ष एडवोकेट अरविंद कुमार धूमल ने बताया कि केन्द्रीय बजट से पूर्व भेजे गए ज्ञापन के माध्यम से उद्यमियों के सर्वपक्षीय विकास व सवंर्धन के लिए विशेष नीति बनाने, वित्तीय कानून, जी एस टी , आयकर , बैंकिंग, वित्तीय संस्थानों, पूंजी बाजार, केन्द्र एवं राज्य के वित्त एवं केंद्रीय बजट सुधारो सबंधित दिए सुझाव व अन्य विषयों पर सहानुभूतिपूर्वक नीति निर्धारण की अपील की। इस दौरान श्रम नियमों, कर्मचारी बीमा, विधुत नियमो, भविष्य निधि, महिला उद्यमियों के लिए विभिन्न योजनाओं व अवसरों के सरलीकरण के बारे में भी चर्चा की गई है।
पंजाब प्रदेश के उधमियों को पेश आ रही मुश्किलो, उनके संभावित निदान संबंधित विस्तृत ज्ञापन को भी केन्द्रीय ज्ञापन में शामिल किया गया है। उक्त ज्ञापन को तैयार करने में लघु उद्योग भारती के अखिल भारतीय उपाध्यक्ष दिनेश लाकड़ा, प्रचार प्रभारी विक्रान्त शर्मा, महासचिव समीर खन्ना, सह महासचिव विशाल दादा, सचिव हरीश गुप्ता,उपाध्यक्ष विजय तलवाड़, अवनीश परमार सह सचिव इंजीनियर अमित गोयल, महिला इकाई की अध्यक्ष अर्चना जैन, महासचिव सीमा धूमल ने सक्रिय सहयोग दिया है। इस संबंध में केंद्रीय एम एस एम ई व परिवहन केबिनेट मंत्री नितिन गटकरी को भी लघु उधमियों की समस्याओं व उनके वांछित समाधान संबंधी ज्ञापन भेजे गए है। जिनमे पी ए पी जालंधर फ्लाईओवर के त्रुटि पुर्ण डिज़ाइन से हो रही दुर्घटनाओ व बढ़ते जाम व प्रदूषण संबंधी आपत्तियां भी जताई गई है।
श्री धूमल ने आशा प्रकट की कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के मार्गदर्शन में भारत की आर्थिकता को सुदृढ़ करने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे और जनहितैषी वित्तीय सुधारों में तेज़ी लाई जाएगी,ताकि सर्वसुविधा सम्पन्न न्यू इंडिया का संकल्प भी यथाशीघ्र पूरा हो सके।
फोटो- एडवोकेट अरविंद धूमल ।

Click short

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *