पंजाब में राशन न मिलने पर की आत्महत्या, तीन दिन से राशन के लिए थाने के चक्कर लगा रहा था, हताश हो लगाया फंदा

समाचार आज तक 10 मई लुधियाना

लाक डाउन  जहां एक और करुणा से राहत दे रहा है वही मजदूरों के लिए मुसीबत ही बन गया है ।लुधियाना में कर्फ्यू के हालात के बीच एक श्रमिक ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या की वजह घर में खाने के पड़े लाले मानी जा रही है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि वह तीन दिन से राशन के लिए फोकल प्वाइंट थाने के चक्कर काट रहा था। हताश होकर लौटने के बाद पत्नी के साथ भी उसकी अच्छी-खासी बहस हुई थी। सूचना के बाद पुलिस ने जरूरी कार्रवाई शुरू कर दी है।

मृतक की शिनाख्त लुधियाना शहर की राजीव गांधी कॉलोनी में रहने वाले अजीत राय के तौर पर हुई है। कोरोना कर्फ्यू के बीच काम बंद है और अजीत के घर में कुछ खाने को नहीं बचा। वह पिछले कई दिन से राशन के लिए चक्कर लगा रहा था। शनिवार को भी राशन लेने के लिए फोकल प्वाइंट थाने गया था, मगर वहां से राशन नहीं मिलने पर हताश होकर घर लौट आया। घर पर देर शाम उसकी अपनी पत्नी से बहस हो गई और इसी के चलते उसने खुदकुशी कर ली। थाना फोकल प्वाइंट पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

उधर, फोकल पॉइंट एरिया में रविवार को एक बार फिर राशन के जरूरतमंद लोगों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से हालात पर काबू पाया। इस दौरान मृतक के परिजनों और परिचितों ने कहा कि उन्हें हर बार खाली हाथ लौटा दिया जाता था, ऐसे में अजीत ने मरना ही बेहतर समझा अब सवाल यह उठता है उस मजदूर ने राशन की वजह से आत्महत्या की है तो इसका जिम्मेदार कौन है

Click short

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *