सतपाल महाराज ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मुलाकात कर इस विषय पर चर्चा की

*केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से मिले महाराज*
*उत्तराखंड में मैडिकल टूरिज़्म को लेकर हुई चर्चा*

समाचार आज तक,  जालंधर 7  अक्टूबर 2020(अमिता शर्मा)

देहरादून/नई दिल्ली। उत्तराखंड में मैडिकल टूरिज़्म की संभावनाओं को लेकर प्रदेश के पर्यटन, धर्मस्व, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मुलाकात कर इस विषय पर व्यापक चर्चा की।
प्रदेश के पर्यटन, धर्मस्व, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज ने आज निर्माण भवन नई दिल्ली स्थित स्वास्थ्य मंत्रालय में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मुलाकात कर उनसे उत्तराखंड में मैडिकल टूरिज़्म की संभावनाओं पर बातचीत की। श्री सतपाल महाराज ने कोविड के दौरान राज्य को मिल रहे सहयोग के लिए भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का आभार जताया। पर्यटन मंत्री श्री महाराज ने उन्हें उत्तराखंड में मैडिकल टूरिज़्म की अपार संभावनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि एशियाई देशों में मैडिकल टूरिज़्म के लिहाज से भारत फिलहाल पहले नंबर पर है। थाईलैंड, सिंगापुर, चीन और जापान जैसे देश भी अब ऐसे पर्यटकों को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन भारत में इलाज की बेहद कम लागत, आधुनिकतम चिकित्सा तकनीकों और उपकरणों की उपलब्धता के साथ ही विदेशियों को भाषा की समस्या नहीं होने की वजह से यहां सबसे ज्यादा ऐसे पर्यटक आते हैं। भारत में विदेशों के मुकाबले एक चौथाई से भी कम लागत पर इलाज तो हो ही जाता है, घूमना भी हो जाता है।
उन्होने बताया कि उत्तराखंड मेडिकल टूरिज्म के लिए सबसे उपयुक्त राज्य है। श्री महाराज ने कहा कि प्रदेश में पर्यटन के साथ-साथ मेडिकल टूरिज्म को भी विकसित करने की जरूरत है। यहाँ का वातावरण प्रकृति रूप से हर प्रकार की चिकित्सा के लिए उपयुक्त है। अनेकों प्रकार की ऐसी जड़ी बूटियां उत्तराखंड में मौजूद हैं जो लाइलाज बीमारियों के लिए अचूक औषधि है।

*निशीथ सकलानी*
मीडिया प्रभारी, श्री सतपाल महाराज जी, माननीय मंत्री पर्यटन, सिंचाई, संस्कृति, जलागम एवं धर्मस्व, उत्तराखंड सरकार।

Click short

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *