बस और इंतजार नहीं आज चांद पर पहुंचेगा भारत, Chandrayaan-2 को लेकर आई

  • इसरो के पूर्व प्रमुख किरण कुमार ने कहा- लॉन्चिंग की तैयारियां पूरी
  • भारत के सबसे ताकतवर जीएसएलवी मार्क-III रॉकेट से चंद्रयान-2 को लॉन्च किया जाएगा
  • चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग 15 जुलाई की रात को होनी थी, जो तकनीकी खराबी के कारण टाल दी गई
  • अक्टूबर 2018 से अब तक 4 बार मिशन की तारीख बदली गई

 Smachar aaj tak:

, भारत का चांद पर दूसरा महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 सोमवार दोपहर दो बजकर 43 मिनट पर रवाना होगा। इसरो ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि लॉन्च की रिहर्सल पूरी हो चुकी है और इसका प्रदर्शन समान्य है। जीएसएलवी-एमके-थ्री एम1 रॉकेट में कुछ तकनीकी दिक्कत के चलते 15 जुलाई को चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण रोक दिया गया था। इसरो ने बताया कि विशेषज्ञ समिति ने तकनीकी खामी की मुख्य वजह का पता लगा लिया और उसके बाद सही कदम उठाए गए हैं। अब इस 3,850 किलोग्राम वजनी ‘चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से 22 जुलाई 2019 को अपराह्न दो बजकर 43 मिनट पर होगा। यह अपने साथ एक ऑर्बिटर, एक लैंडर और एक रोवर ले जाएगा और चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा।

54 दिन में चांद पर पहुंचेगा
पहले चंद्र मिशन की सफलता के 11 साल बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) भू-समकालिक प्रक्षेपण यान जीएसएलवी-एमके तृतीय से 978 करोड़ रुपये की लागत से बने ‘चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण करेगा। इसे चांद तक पहुंचने में 54 दिन लगेंगे।

Click short

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *