सुर्खियां: पुलवामा के हमले के बाद की 10 खबरें

विपक्ष ने कहा- आतंकवाद पर सख्त कार्रवाई हो

समाचार आज तक : केंद्र सरकार ने हमले की कार्रवाई पर एकराय बनाने के लिए दिल्ली में सर्वदलीय बैठक बुलाई। इसमें सभी नेताओं ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी और आतंकवाद पर सख्त कार्रवाई करने का प्रस्ताव पास हुआ। इसमें कहा गया, “आतंकवाद को सीमा पार से समर्थन मिलता है लेकिन भारतीय सुरक्षा बल इससे निपटने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं। आतंकवाद के खिलाफ सुरक्षा बलों की लड़ाई में देश अपने सैनिकों के साथ है। भारत की एकता-अखंडता की हर कीमत पर सुरक्षा की जाएगी।

  • पुलवामा हमले के बाद कार्रवाई पर एकराय कायम करने के लिए दिल्ली में सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, “देश की एकता और सुरक्षा के मामले पर हम सरकार के साथ हैं। कश्मीर या देश के किसी भी हिस्से में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में हमारा सरकार को पूरा समर्थन है।”
  • शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि पठानकोट और उड़ी हमले के बाद भी सरकार ने रेजोल्यूशन पास किया था। हम सरकार से सख्त कार्रवाई की बात कह चुके हैं।
  • जम्मू-कश्मीर में हमले की जांच के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की टीम पुलवामा पहुंच चुकी है।
  • हमले के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं। महाराष्ट्र के नालासोपारा स्टेशन पर में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोक ली।
  • जम्मू के कई इलाकों में शुक्रवार को कर्फ्यू लगाया गया था। यह शनिवार को भी जारी रहा।
  • पुलवामा हमले में शहीद सीआरपीएफ के एएसआई मोहनलाल को देहरादून में उनकी बेटी ने आखिरी सलामी दी।
  • ममता बनर्जी ने कहा कि यह देखकर दुखी हूं कि प्रधानमंत्री ने ऐसी गंभीर घटना के बाद भी एक प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया। ऐसी स्थिति में हमें सरकारी कार्यक्रमों को टालना चाहिए। आखिर केंद्र की ओर से तीन दिन का शोक क्यों नहीं घोषित किया गया? हमें यह जानने का अधिकार है कि वास्तव में क्या हुआ। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार क्या कर रहे थे? हमले के पहले किसी तरह की कोई जानकारी क्यों नहीं मिली? इतने जवान क्यों मारे गए? यह सवाल लोगों के हैं, केवल मेरे नहीं।
  • शरद पवार ने कहा कि मोदी सत्ता में आने से पहले चुनावी रैलियों में कहते थे कि मनमोहन सरकार में वह योग्यता ही नहीं जो पाक को सबक सिखा सके। यह काम तो 56 इंच के सीने वाला शासक ही कर सकता है। मगर अब तो सभी ने देखा कि क्या हो गया।
Click short

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *